अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद की अस्थि कलश की बाट जोह रहा इलाहाबाद म्यूजियम, निदेशक ने लिखा पत्र

योगेश मिश्रा

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (पूर्व नाम इलाहाबाद) में स्थित अल्फ्रेड पार्क, जिसे कंपनी बाग भी कहते हैं, वो स्थान है जहां चंद्रशेखर आजाद ने अंग्रेजों से मुठभेड़ के दौरान देश के नाम अपनी शहादत दी थी. इस अल्फ्रेड पार्क में इलाहाबाद म्यूजियम की स्थापना वर्ष 1931 में की गई थी, यहां अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद से जुड़ी हुई चीजों को संजोकर रखा गया है. अब म्यूजियम के निदेशक के द्वारा पत्र लिखकर उनकी अस्थि कलश को संग्रहालय में रखने की मांग की गई है. दरअसल उनकी अस्थि कलश लखनऊ के राजकीय संग्रहालय में रखा हुआ है जिसे इलाहाबाद के म्यूजियम में रखने के लिए राजकीय संग्रहालय के निदेशक को पत्र लिखकर यह मांग की गई है.

न्यूज़ 18 लोकल की टीम से आजाद विथिका के प्रभारी डॉ. राजेश मिश्रा ने बताया कि म्यूजियम में नई आजाद गैलरी का निर्माण किया जा रहा है. साथ ही चंद्रशेखर आजाद से जुड़ी हुई चीजें जैसे उनकी पिस्तौल, तस्वीरें आदि म्यूजियम में मौजूद है, लेकिन उनका अस्थि कलश लखनऊ के राजकीय संग्रहालय में रखा हुआ है. चूंकि आजाद ने इसी अल्फ्रेड पार्क में शहादत प्राप्त की थी, और उनसे जुड़ी हुई सभी सामान इस म्यूजियम में होना चाहिए जिसके लिए निदेशक के द्वारा लखनऊ स्थित राजकीय संग्रहालय के निदेशक को पत्र लिखकर उनके अस्थि कलश को यहां लाने की मांग की गई है. डॉ. राजेश मिश्रा ने बताया कि मामला अभी विचाराधीन है जिसमें समय भी लग सकता है. यहां चंद्रशेखर आजाद से जुड़ी हुई सभी चीजों को आजाद गैलरी में रखा जाएगा.

See also  पश्चिम बंगाल: सीएम ममता बनर्जी बोलीं- 'मैं एक ऐसे राष्ट्र का निर्माण करना चाहती हूं, जहां कोई भी भूखा नहीं रहे'

इलाहाबाद म्यूजियम में आए पर्यटक ने कहा कि चंद्रशेखर आजाद ने इसी पार्क में अपनी शहादत दी थी इसलिए उनसे जुड़ी हुई सभी चीजों को इसी म्यूजियम में होना चाहिए. फिलहाल यह तो वक्त बताएगा कि चंद्रशेखर आजाद की अस्थि कलश राजकीय संग्रहालय से इलाहाबाद के म्यूजियम में कब आता है, लेकिन लोगों के द्वारा इसकी गंभीरता से मांग की जा रही है.

Tags: Chandrashekhar Azad, Prayagraj News, Up news in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.