‘उस दिन अर्शदीप सिंह की जगह मैं भी…’ पाकिस्तान के खिलाफ कैच ड्रॉप होने पर रवि बिश्नोई का आया बड़ा बयान

हाइलाइट्स

अर्शदीप सिंह ने अपनी गेंदबाजी से प्रभावित किया है
पाकिस्तान के खिलाफ अर्शदीप ने कैच ड्रॉप कर दिया
लेग स्पिनर रवि बिश्नोई ने अर्शदीप सिंह का किया सपोर्ट

नई दिल्ली. रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) की उम्र महज 22 साल की है लेकिन वह समझते हैं कि क्रिकेट कितना ‘निर्दयी’ खेल है. इस लेग स्पिनर का कहना है कि हाल में एशिया कप के दौरान पाकिस्तान के खिलाफ महत्वपूर्ण कैच छोड़ने वाले अर्शदीप सिंह (Arshdeep Singh) की जगह वह भी हो सकते थे. अर्शदीप की एशिया कप के ‘सुपर फोर’ मैच में बिश्नोई की गेंद पर आसिफ अली का कैच छोड़ने के लिए सोशल मीडिया पर काफी बुरी तरह आलोचना की गई जिसमें भारत हार गया था.

बिश्नोई ने चार ओवर में 28 रन देकर एक विकेट झटका और महाद्वीपीय टूर्नामेंट में अपने पहले मौके में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज रहे. भारत के लिए 2022 में 10 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले बिश्नोई ने कहा, ‘पाजी मेरे सबसे अच्छे दोस्त हैं. हम सभी जानते हैं कि कैच छूटना खेल का हिस्सा है. सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी से भी ऐसा हो सकता है. और ऐसा भी हो सकता था कि वह गेंदबाजी कर रहा होता और मैं इस कैच को छोड़ सकता था. अर्शदीप मजबूत इरादे वाला खिलाड़ी है. उस कैच को छोड़ने के बाद आपने देखा कि उसने ‘डेथ ओवर’ में कितनी अच्छी गेंदबाजी की. ऐसा बिल्कुल नहीं लगा कि वह परेशान था. वह मानसिक रूप से इतना मजबूत है.’

यह भी पढ़ें:20 World Cup में इस मिस्ट्री स्पिनर से बल्लेबाजों को रहना होगा सतर्क… मुथैया मुरलीधरन ने चेताया

See also  ढाई किलो के हाथ वाले सनी देओल की फिल्म Chup ने बनाया प्री-बुकिंग का रिकॉर्ड, 1.30 लाख टिकट सोल्ड, लेकिन नंबर-1 रही यह फ‍िल्‍म

‘उसे वर्ल्ड के बेस्ट सर्जन के पास भेजना चाहिए था…’ ‘स्विंग के सुल्तान’ ने PCB को जमकर कोसा

एशिया कप में भारतीय टीम सुपर फोर में टूर्नामेंट से बाहर हो गई थी. लीग स्टेज पर उसने पहले पाकिस्तान को हराया फिर सुपर फोर में पाकिस्तान ने भारत को मात दी. टीम इंडिया के लिए एशिया कप किसी बुरे सपने की तरह रहा. लोग भारत बनाम पाकिस्तान फाइनल की उम्मीद कर रहे थे लेकिन ऐसा हो नहीं सका. टीम को चोटिल जसप्रीत बुमराह की कमी खली.

गुगली को घातक बनाने पर काम कर रहे बिश्नोई
बिश्नोई टी20 विश्व कप के लिए चुनी गई टीम में जगह नहीं बना सके हैं क्योंकि उनसे सीनियर युजवेंद्र चहल को मौका मिला है लेकिन वह अपनी गुगली को घातक बनाने पर काम कर रहे हैं. जोधपुर के इस गेंदबाज ने कहा, ‘टीम प्रबंधन ने किसी ने भी मुझे लेग ब्रेक पर महारत हासिल करने को नहीं कहा है. मैंने साईराज सर से बात की थी और उन्होंने कहा कि अच्छा है कि अगर मैं इस ‘वैरिएशन’ पर काम कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि तुम एक घातक लेग ब्रेक डालने पर काम कर रहे हो और तुम निश्चित रूप से इसे परफेक्ट तरह से फेंक पाओगे. मैं इस पर काम कर रहा हूं और उम्मीद करता हूं कि इसमें महारत हासिल कर लूं.’ पूर्व लेग स्पिनर साईराज बहुतुले टीम के गेंदबाजी कोच में से एक हैं.

See also  देवेंद्र फडणवीस का सियासी सफर रहा है बेदाग, 47 साल की उम्र में बने थे महाराष्‍ट्र के CM

Tags: Arshdeep Singh, Asia cup, India cricket team, Ravi Bishnoi, Team india

Leave a Reply

Your email address will not be published.