पिथौरागढ़ घूमने का प्लान बना रहे हैं तो जरूर जाएं भुरमुनी वॉटरफॉल, कह उठेंगे वाह क्‍या बात है!

हिमांशु जोशी

पिथौरागढ़. उत्तराखंड का पिथौरागढ़ जिला अपनी खूबसूरत वादियों और प्राकृतिक सौंदर्य के लिए जाना जाता है. इसी वजह से इसे मिनी कश्मीर भी कहा गया है. जबकि इन दिनों इसकी सुंदरता पर भुरमुनी का वॉटरफॉल चार चांद लगा रहा है. अगर आप पिथौरागढ़ घूमने का प्लान बना रहे हैं, तो पिथौरागढ़ मुख्यालय से 17 किलोमीटर दूर चंडाक रोड से होते हुए भुरमुनी गांव में यह खूबसूरत वॉटरफॉल है.

वैसे भुरमुनी वॉटरफॉल का वजूद तो सदियों से था, लेकिन कोरोना काल में यह लोगों की निगाहों में चढ़ गया. अब तपती गर्मी में इन नजारों को देखकर कोई भी गदगद हो सकता है. प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर यह वॉटरफॉल चारों तरफ से घने जंगलों से घिरा हुआ है जिसके नजारे अपनी आंखों में उतारने को लोग यहां खिंचे चले आ रहें हैं.

कोरोना काल में बेरोजगार होकर घर लौटे भुरमुनी के युवाओं द्वारा इस झरने की खोज की गयी थी. इसे खोज निकालने के बाद इन युवाओं ने आपसी सहयोग से यहां तक पहुंचने का रास्ता भी तैयार किया. इसके बाद ही प्रकृति की इस अनमोल धरोहर का लोगों को पता चला.

प्रकृति के इस नायाब झरने का दीदार करने के लिए लोग यहां पहुंचते हैं. झरने के दीदार के साथ ही यहां जंगलों में ट्रैक करने का अनुभव भी मिलता है. अब तक जंगलों के बीच छिपे इस खूबसूरत झरने को सबके सामने लाकर स्थानीय युवाओं ने अपनी अहम भूमिका निभाई है. हालांकि अब जरूरत है तो भविष्य में इस वॉटरफॉल को पर्यटन के क्षेत्र में विकसित कर इस जगह को और सुगम बनाने की. फिलहाल यहां पहुंचने के लिए तीन किलोमीटर की कच्ची सड़क और एक किलोमीटर का पैदल रास्ता तय करना पड़ता है. बावजूद इसके यहां पहुंचने पर खूबसूरत नजारों से मन प्रफुल्लित हो जाता है.

See also  Liverpool beat Chelsea in Finals of EFL cup to become champions after 10 years

Tags: Pithoragarh news, Uttarakhand Tourism

Leave a Reply

Your email address will not be published.