मुंबई: शिवाजी पार्क में दशहरा रैली के आवेदन हो सकते हैं खारिज, मंत्री ने दी जानकारी

हाइलाइट्स

महाराष्‍ट्र के मंत्री का बयान, कहा- दशहरा रैली के आवेदन पर नहीं हुआ फैसला
उद्धव ठाकरे, एकनाथ शिंदे दोनों गुटों ने किया है आवेदन, पर हो सकते हैं खारिज
बीएमसी का कार्यकाल समाप्‍त, राज्‍य प्रशासक कर रहे हैं मामलों का प्रबंधन

मुंबई .  भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने बुधवार को कहा कि शिवाजी पार्क में दशहरा रैली आयोजित करने की शिवसेना के दोनों खेमों के आवेदनों को प्रशासन खारिज कर सकता है. बृहन्मुंबई महानगरपालिका (BMC) ने शिवाजी पार्क में वार्षिक दशहरा रैली आयोजित करने के लिए दायर आवेदनों पर अभी कोई फैसला नहीं किया है. दशहरा रैली दिवंगत बाल ठाकरे के समय से शिवसेना के वार्षिक कैलेंडर में एक प्रमुख आयोजन है.

एकनाथ शिंदे द्वारा 40 विधायकों के साथ शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के खिलाफ बगावत करने और पार्टी तथा (पार्टी के) चुनाव चिह्न पर दावा करने के बाद स्थिति बदल गई है. मुख्यमंत्री शिंदे और उद्धव के नेतृत्व वाले गुटों ने शिवाजी पार्क में दशहरा रैली आयोजित करने की अनुमति के लिए बीएमसी में अलग-अलग आवेदन किया है. मुनगंटीवार ने संवाददाताओं से कहा, ‘प्रशासन दोनों पक्षों के आवेदनों को खारिज कर सकता है और उन्हें किसी अन्य सार्वजनिक स्थानों पर अपनी-अपनी रैलियां करने के लिए कह सकता है.’

बीएमसी का कार्यकाल समाप्‍त, राज्‍य प्रशासक कर रहे प्रबंधन 

बीएमसी में लगभग तीन दशकों तक शिवसेना का शासन रहा है. वर्तमान में, इसके मामलों का प्रबंधन एक राज्य प्रशासक द्वारा किया जा रहा है क्योंकि बीएमसी का कार्यकाल समाप्त हो गया है और चुनाव कार्यक्रम की घोषणा अभी तक नहीं की गई है. मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली सरकार में वन विभाग संभालने वाले मुनगंटीवार ने यह भी कहा कि शिवसेना का चुनाव चिह्न शिंदे खेमे का है.

See also  दक्षिण कोरिया में क्रिप्टो एक्सचेंज शुरू कर सकती है Samsung

 पार्टी का चुनाव चिह्न उसके सदस्यों का होता है

उन्होंने कहा, ‘एकनाथ शिंदे ने उच्चतम न्यायालय में शिवसेना के चुनाव चिह्न पर रोक लगाने का अनुरोध किया था. मुझे लगता है कि पार्टी का चुनाव चिह्न उसके सदस्यों का होता है और यह किसी व्यक्ति की संपत्ति नहीं है. अगर शिंदे को मूल शिवसेना के 40 विधायकों का समर्थन प्राप्त है तो उन्हें चुनाव चिह्न पर दावा करने का अधिकार है.’ मुनगंटीवार ने कहा कि चुनाव चिह्न ऐसी संपत्ति नहीं है जिस पर बाहरी लोग दावा नहीं कर सकते. भाजपा के वरिष्ठ नेता फडणवीस ने इन आरोपों को खारिज कर दिया कि नगर निकाय दशहरा रैली के लिए सभी आधार को अवरुद्ध कर रहा है. उन्होंने नागपुर में कहा, ‘राज्य सरकार ने किसी भी आधार को अवरुद्ध नहीं किया है. नियमों के अनुसार अनुमति दी जाएगी.’

Tags: BJP, Maharashtra

Leave a Reply

Your email address will not be published.