‘विकास की छवि’ के रूप में तेजस्वी यादव की ब्रांडिंग, जदयू नीतीश कुमार को मानता है विकास पुरुष  

हाइलाइट्स

तेजस्वी यादव के जिम्मे हैं स्वास्थ्य विभाग, पथ निर्माण, नगर विकास विभाग और ग्रामीण कार्य जैसे बड़े विभाग.
तेजस्वी यादव के हिस्से में वो विभाग हैं जो सालों से बीजेपी के पास रहे हैं, ऐसे में उन्हें नई लकीर खींचनी पड़ेगी.

पटना. विकास पुरुष के बारे में अगर चर्चा करे तो बिहार में सबसे पहले नीतीश कुमार का नाम सामने आता है. वर्ष 2005 में मुख्यमंत्री बनने के बाद प्रदेश में किए जा रहे कामों को सामने रखते हुए जदयू ने नीतीश कुमार को विकास पुरुष के रूप में बड़े पैमाने पर प्रचारित भी करता रहा है. बिहार में जिस तरीके से लॉ एंड ऑर्डर और विकास के काम हुए वैसे में नीतीश कुमार की सुशासन बाबू के साथ विकास पुरुष के रूप में सामने लाया गया. अब जब महागठबंधन की सरकार में एकबार फिर डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव बनाए गए हैं तो उनकी नए तरीके से ब्रांडिंग की जा रही है. राजद कार्यकर्ता तेजस्वी की तस्वीर को शहर भर में लगाकर तेजस्वी को विकास पुरुष के रूप में प्रस्तुत कर रहे हैं. स्लोगन दिया गया है ‘विकास की छवि, तेजस्वी’.

बता दें कि वर्ष 2015 के चुनाव के बाद सरकार में शामिल होने के बाद करीब दो साल सरकार में डिप्टी सीएम के रूप में तेजस्वी यादव रहे और पथ निर्माण विभाग और भवन निर्माण विभाग संभालते रहे. हालांकि, उस समय राजनीतिक जीवन में शुरुआत थी और कम समय ही सरकार में रहे इसलिए कोई ब्रांडिंग नहीं की गई. मगर नेता प्रतिपक्ष में रहते हुए सबसे बड़े दल के रूप में राजद को लाना और सरकार में फिर से डिप्टी सीएम बनने के बाद तेजस्वी की छवि को नए तरीके से गढ़ने की शुरुआत की जा रही है.

See also  दिल्ली फुटबॉल दिवस के मौके पर ‘37 प्लस लीग’ लॉन्च करेगी ‘फुटबॉल दिल्ली’

विकास पुरुष के लिए सामने बड़ा चैलेंज
तेजस्वी यादव डिप्टी सीएम के रूप में एकबार फिर सरकार में नई भूमिका में है. इस बार तेजस्वी ना सिर्फ डिप्टी सीएम हैं बल्कि चार बड़े विभागों की जिम्मेदारी भी कंधों पर है. स्वास्थ्य विभाग, पथ निर्माण, नगर विकास विभाग और ग्रामीण कार्य जैसे बड़े विभाग तेजस्वी के हाथों में है. आने वाले दिनों में इन विभागों में बड़े काम होते हैं तो तेजस्वी की छवि को नई धार मिलेगी.

BJP वाले अधिकतर विभाग RJD के हिस्से
गौरतलब है कि तेजस्वी यादव के हिस्से में वो विभाग हैं जो सालों से बीजेपी नेताओं के कब्जे में रहे हैं. ऐसे में तेजस्वी यादव को नई लकीर खींचने की जरूरत होगी. बहरहाल, अब देखना होगा कि पहले से विकास पुरुष के रूप में जाने जाने वाले नीतीश कुमार की जगह विकास की छवि तेजस्वी किस प्रकार बनाते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.